पिता ने जान देकर बेटी को बचाया / टूटे तार से करंट की चपेट में आई बेटी, उसे बचाने में किसान की गई जान 

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ के धमतरी में सोमवार सुबह करंट की चपेट में आई बेटी को बचाने की कोशिश में एक किसान की मौत हो गई।
  • भखारा क्षेत्र के ग्राम डोमा की घटना, घर के पास स्थित दुकान पर गई थी बेटी
  • चीख सुनकर पहुंचा पिता, बेटी भी घायल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी में सोमवार सुबह करंट की चपेट में आई बेटी को बचाने की कोशिश में एक किसान की मौत हो गई। बेटी घर के पास ही स्थित दुकान पर काम से गई थी। इसी दौरान टूटे हुए बिजली के तार से चिपक गई। हादसे में बेटी भी घायल हुई है। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। घटना भखारा थाना क्षेत्र की है।

भखारा क्षेत्र के ग्राम डोमा निवासी खम्हन यादव (50) की घर के पास ही दुकान है। जिसे किराये पर दे रखा है। सोमवार सुबह उसकी 18 वर्षीया बेटी काम से दुकान पर गई थी। इसी दौरान वहां टूटे हुए बिजली तार की चपेट में आ गई। उसकी चीख सुनकर खम्हन यादव मौके पर पहुंचे। बेटी को बचाने की कोशिश में वह कामयाब हो गए, लेकिन उनकी खुद मौत हो गई।

लगातार हो रही बारिश के चलते टूटा तार
भखारा टीआई कोमल नेताम ने बताया कि लगातार हो रही बारिश के चलते रविवार को ही बिजली का तार टूट गया था। इसकी सप्लाई भी नहीं बंद की गई थी। इसी तार की चपेट में पहले बेटी आई और फिर उसे बचाने की चक्कर में खम्हन यादव की जान चली गई। उसकी बेटी को अस्पताल में भेजा गया है।

कोरबा में भी रविवार को गई थी पिता की जान
इससे पहले कोरबा में भी रविवार को बेटी को बचाने की चक्कर में एक श्रमिक की मौत हो गई थी। मृतक का नाम दिलहरण है। वह परिवार समेत प्रयागराज से वापस लौट रहा था। घर से ठीक आधा किमी पहले कुरिहापार भैसामुड़ा के पास वह करंट की चपेट में आ गया। वहां ग्रामीणों ने जंगली सुअर के शिकार के लिए तार लगा रखा था। हादसे के वक्त 5 साल की मासूम बच्ची भी उसकी गोद में थी । करंट लगते ही उसने बच्ची को दूर फेंक दिया।

बांसवाड़ा में वारदात / शराबी पिता ने 11 महीने की बच्ची को सड़क पर पटक-पटक कर मार डाला, पत्नी से हुआ था विवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *