कर्ज में डूबे यस बैंक पर बड़ी कार्रवाई, सिर्फ 50 हजार रुपये ही निकाल सकेंगे ग्राहक

BUSINESS

यस बैंक के ग्राहको के लिए बुरी खबर आई है. वित्तिय संकट से जूझ रहे देश के चौथे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक यस बैंक का कामकाज भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने हाथ में ले लिया है. ग्राहकों के पैसे बचाने के लिए शर्तों के साथ निकासी की सीमा तय कर दी गई है. ऐसे में खाता धारक अब हर महीने 50 हजार रुपए निकाल सकेंगे. वहीं विशेष परिस्थितियों में खाता धारक पांच लाख तक निकाल सकेंगे.

आरबीआई का यह आदेश अगले एक महीने के लिए:
जानकारी के अनुसार आरबीआई का यह आदेश अगले एक महीने के लिए है. रिजर्व बैंक ने ये निर्देश बैंक की आर्थिक हालत को देखते हुए दिए है. वहीं इसी बीच गुरुवार को ये खबर आई थी कि सरकार ने देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI को यस बैंक में हिस्‍सेदारी खरीदने के लिए कहा है. यस बैंक में एसबीआई की हिस्‍सेदारी की खबर से बैंक के शेयर में 25 फीसदी से अधिक की तेजी आ गई.

बैंक पर आरबीआई का फैसला:
2019 में 3 लाख 80 हजार 826 करोड़ रुपए की पूंजी वाले यस बैंक पर 2 लाख 41 हजार 500 करोड़ रुपए का कर्ज है. बैंक का एनपीए बढ़ा तो RBI ने कमान अपने हाथ में ली. बैंक के निदेशक मंडल को 30 दिन के लिए भंग किया है. बैंक की देखरेख के लिए प्रशासक नियुक्त किया गया. SBI के पूर्व डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ फाइनेनशियल ऑफिसर प्रशांत कुमार यस बैंक के नए प्रशासक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *